Home Top Ad

आखिर! ये "मी टू"अभियान क्या है - Explain MeToo Campaign In Short

Share:

#MeToo : 


Explain MeToo Campaign In Short
#MeToo

आपको
समझना होगा और सम्भलना भी होगा ,आपकी एक लापरवाही आपको जेल भेज सकती है और आपके सम्मान की खटिया खड़ी हो सकती है |


(एक ऐसा अभियान जिसमें यौन उत्पीड़न करने वालें शिकारियों की पोल खोली जाती है )


   वास्तव में आज हर कोई इससे परेशान है ,हॉलीवुड से लेकर बॉलीवुड तक ऐसी कई घटनाएँ सामने रही है ,जो कि शर्मसार कर दे रही है ,इस घटना में छोटे लोग ही नहीं वरन बड़े-बड़े लोग भी सामने रहे हैंआप उम्मीद भी नहीं कर सकते ऐसे लोग भी इस सूची में सामने रहे हैं जैसा कि हम आपको बताना चाहेंगे कि "मी टू" एक अभियान है , सबसे पहले इसका प्रयोग एक सामाजिक कार्यकर्ता और  सामुदायिक आयोजक के द्वारा सोशल मीडिया पर किया था |
                                 जिसमें यौन उत्पीड़न का शिकार हुए लोग चाहे वह  महिला हो या पुरुषअगर उनके साथ ऐसी कोई घटना हुई हो तो उसमें उसका व्याख्यान किया जाता है बहुत सारे लोग इस समस्या से परेशान हुए हैंविशेषकर यह जो "मी टू अभियान" है जो मैं बात कर रहा हूंमी टू अभियान की जो विशेषकर महिलाओं के लिए सबसे ज्यादा कारगर साबित हुआ है ,वास्तव में अमेरिका से लेकरे साउथ कोरिया तक "मी टू अभियान" के अंतर्गत बहुत सारी महिलाएं अपने हृदय की वेदना को व्यक्त कर पा रही हैं ,पता नहीं कितने सालों से ,कितने वर्षों से वह इस समस्या से जूझ रहे थे और वे  यही सोच रहे  थी कि अगर मैं  यह बात सोशल मीडिया पर या अपने किसी सगे सम्बन्धी को बताऊंगी तो इसमें मेरा ही अपमान होगाइसी डर से वह चुपचाप सहती रही और कई महिलाओं ने यह बात कहने का प्रयास भी किया ,लेकिन उनकी बातों पर उतना ध्यान नहीं दिया गया था  |

                                 अमेरिका और साउथ कोरिया ऐसे बड़े बड़े देशों में ऐसी बातें हो रही थी तो अब तो भाई भारत देश भी किसी मामले में पीछे तो नहीं है और इस मामले में यहां की बड़ी-बड़ी अभिनेत्रियां सामने रही हैं और इस पर अपनी बात कह रही है |
                                  हम आपको बताना चाहेंगे वास्तव में "मी टू" जो शब्द है इसका मतलब यही हुआ कि कई स्थानीय और अंतरराष्ट्रीय विकल्प के साथ अपनी बात कहना और साथ-साथ यह भी है कि जो महिलाओं के यौन उत्पीड़न हो रहे हैं ,महिलाओं के साथ जुड़े हुए हमले के खिलाफ एक आंदोलन है वास्तव में यह ऐसे ही नहीं आया,इसकी भी अपनी अलग ही कथा है |
                                 इस अभियान के आधार पर बहुत सारी महिलाएं अपने साथ हुए अत्याचार को सोशल मीडिया पर शेयर कर रही है और शायद "मी टू "की मदद से उनके अंदर हिम्मत गई हैवह बात कहने की क्षमता ,उनके पास बहुत पहले से नहीं थी ,वह सोच रही है कि काश वह पहले कर पाती ,खैर देर से ही सही |
               यह "मी टू" शब्द वास्तव में अक्टूबर 2017 में यौन उत्पीड़न और जो घटना हुई है,विशेष रूप से कार्य में व्यापक प्रदर्शन करने के प्रयास में सोशल मीडिया पर इस्तेमाल किए गए हैं ,वास्तव में जो मैं  बात करना चाह रहा हूं कि जो "#Me Too" है ,  सबसे पहले यह  तब बहुत तेजी से वायरल हो गया जब बात आई हार्वे वेनस्टीन के खिलाफ | हां बिल्कुल ,उनके खिलाफ यौन दुर्व्यवहार के आरोपों के बाद तुरंत चर्चा में गया |
                   एक अमेरिकी सामाजिक कार्यकर्ता और सामुदायिक आयोजक ताराना बर्क ने 2006 के आरंभ में "मी टू" वाक्यांश का उपयोग शुरू कियाऔर वाक्यांश को बाद में 2017 में ट्विटर  पर अमेरिकी अभिनेत्री एलिसा मिलानो द्वारा लोकप्रिय किया गया। मिलानो ने यौन उत्पीड़न के पीड़ितों को ट्वीट करने के लिए प्रोत्साहित किया ,यह और "लोगों को समस्या की निवारण हो " ऐसा उन्होंने कहा |
                          तो चलिए अब हम आपको एक सूची प्रदान करते हैं ,उस सूची में बॉलीवुड की जो हस्तियाँ  है ,इसमें "मी टू" के अंतर्गत रहे हैं ,इस समस्या के अंतर्गत रहे हैं ,जो इस में चर्चा में चल रहे हैंविवाद में चल रहे हैंहम उनकी बातें आपको बताते हैं ,जो कुछ इस प्रकार है : 

(1) नाना पाटेकर :
                   वास्तव में नाना पाटेकर  की घटना उस समय की है ,जब "हॉर्न ओके प्लीज " की शूटिंग 10 साल पहले हो रही थी और उस फिल्म की मुख्य अभिनेत्री के बारे में बताया जा रहा है कि वो भी अभिनेता नाना पाटेकर से काफी परेशान हो गई थी और उन्होंने उसका विरोध भी किया था ,लेकिन उस समय उनकी बातों पर किसी ने ध्यान नहीं दिया ,वो सोच रहीं थी कि  कहीं उनके फिल्मी कैरियर पर कोई प्रभाव ना पड़ जाए जो उनकी फिल्मी कैरियर को तबाह कर दे तो इसीलिए वह चुप गयी थी |

(2)विवेक अग्निहोत्री :
                        तनुश्री दत्ता ने इस बात को भी बताया  है कि जब 2005 में फिल्म की शूटिंग हो रही थी तो उसमें जो फिल्म निर्माता विवेक अग्निहोत्री थे , वह भी शूटिंग करते समय उनके साथ गलत व्यवहार करते थे  लेकिन इस बात को जो विवेक अग्निहोत्री के वकील है ,उन्होंने इसे झूठा करार दिया है |

(3)आलोक नाथ :
                  1990 के शो  जो "तारा" नाम से प्रसिद्ध एक  लेखक निर्माता "विंता नन्दा ने "आलोक नाथ " पर आरोप लगाया ,विंता नंदा कहती हैं कि जिस इंसान को लोग संस्कारी आलोक नाथ के नाम से जानते हैंवास्तव में उसने बहुत से लोगों को अपना शिकार बनाया था ,  इस समय "मी टू " की जो लहर चल रही है ,इस लहर को देखते हुए  विंता नंदा ने भी अपने साहस को जुटाया और वो इस बात को कह पाई हैं ,वह कहती हैं कि वह शराबी था लापरवाह था और अप्रिय था लेकिन उसका बॉलीवुड में बहुत नाम भी था , जिसकी वजह से उसकी गलतियां माफ कर दी जाती थी |
                                           खास बात यह है कि उनके दुर्व्यवहार से उन्हें मुख्य अभिनेत्री भी पसंद नहीं करती थीआलोक नाथ ने इस पर बयान दिया हैवह कहते हैं कि "मैं इस बात से इंकार नहीं कर रहा हूं और ना ही इस बात को स्वीकार कर रहा हूं इसे बलात्कार कहना चाहिए ,लेकिन दोषी कोई और होना चाहिए था , इसके बारे में वो ज्यादा बात नहीं करना चाहते हैं ,वो कहते है कि इस बारे में ज्यादा बात करूंगा तो इसका मतलब यही होगा कि मैं उस मुद्दे को खींच रहा हूं जो मैं नहीं चाहता |

(4)कंगना राणावत :
                  
 इसके बाद जो घटना सामने निकल कर रही है कंगना राणावत की जो कि हमारे बॉलीवुड की बेबाक अभिनेत्री हैं ,वह कभी किसी के सामने दबी नहीं है ,वो अपनी बात कहने में काफी कुशलता का प्रदर्शन करती  हैं,वास्तव में वह बताती हैं कि  फिल्म रानी की शूटिंग हो रही थी ,एक बात और कि वो उस समय वो अपने फिल्मी करियर को आगे बढ़ाने में लगी हुई थी और वह "महिला सशक्तिकरण" के लिए प्रेरणा के रूप में कार्य कर रही थी और जो "महिला सशक्तिकरण को" बढ़ावा दे रही थी और उन्होंने यह भी बताया कि जो उस  फिल्म के निदेशक थे , वो  मुझे कसकर पकड़ लेते और  मेरे बालों को अपने सिर से रगड़ते थे , मुझे बहुत परेशानी होती थीइसके बाद एक बड़े पार्टी का  प्रोग्राम रखा गया थाजिसमे भी उन पर यौन दुर्व्यवहार का आरोप लगाया गया था |

(5) चेतन भगत :

                 इसी भीड़ में एक बात और सामने निकल के आयीकहा जाता है कि जो भारत के शीर्ष स्तर पर रहने वाले लेखकों में से एक कहे जाने वाले जो "चेतन भगत" हैं जिन्होंने बहुत सारी पुस्तकों को लिखा हैउनके द्वारा लिखी गई पुस्तकों पर फिल्में भी बनाई गई है , वास्तव में समस्या तब उत्पन्न हो गई जब एक महिला ने उनकी साथ हुई बातचीत के दौरान जो व्हाट्सएप पर उन्होंने कुछ बातचीत किया था ,उस महिला ने कुछ स्क्रीनशॉट को सोशल मीडिया पर  साझा किया और इस पर  चेतन भगत जो कि काफी गम्भीर  लेखक भी है ,उन्होंने फेसबुक पर पब्लिक रूप से माफी मांग लिया |

(6)रजत कपूर :

            इसी क्रम में एक और बात सामने निकल कर आती है ,कहा जाता है कि अभिनेता "रजत कपूर" जिनको आप सभी जानते हैंउन पर भी यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया गया हैजिसमें 2 महिलाओं ने आरोप लगाया हैइस बात को सुनने के बाद उन्होंने कहा कि मैं समझ नहीं पा रहा हूं ,पता नहीं कैसे यह गलती हुई है , उन्होंने कहा कि कृपया करके आप हमें क्षमा करने का प्रयास कीजिएमुझसे बहुत  बड़ी भूल हो गई है और मैं हमेशा एक अच्छा इंसान बनने के प्रयास करता था और मैं अभी भी एक अच्छा इंसान बनने की पूरी कोशिश करूंगा |

(7)कैलाश खेर :
              
  इसी क्रम में यहां तक कि बॉलीवुड के जो जानेमाने गायक हैं और कैलाश खेर जी वह भी इसी चपेट में गए ,वास्तव में हुआ इस तरह , एक महिला पत्रकार ने उन पर उत्पीड़न का आरोप लगाते हुए कहा कि इस रेंगने ने मेरी जान पर अपना हाथ रखा | कैलाश खेर  ने जो आईएएनएस को एक बयान दिया था और कहा था कि जो लोग मुझे जानते हैं, मैं मुझे पहचानते हैं  वो इस बात को अच्छी तरह जानते हैं कि मैं महिलाओं का कितना सम्मान करता हूं उनकी कितनी आदर करता हूं और यह जो मीडिया में इस तरह की अफवाहें फैल रही है इसका  सामना करना काफी मुश्किल है और मैं अपनी जो खुद की एक दुनिया है मैं उसमें काफी खुश हूं और मैंने लोगों के लिए हमेशा सही सोचा हैसकारात्मक सोचा है और जो संगीत है यही मेरी भक्ति है और यह आती है आपके प्रेम से और आप के समर्थन से ,फिर भी  अगर ऐसी कोई बात हुई भी है तो कृपया करके आप मुझे क्षमा करें |

(8)उत्सव चक्रवर्ती :

                  एक बात सामने निकल कर आती है, 1 मुंबई कॉमेडियन जिनका नाम उत्सव चक्रवर्ती बताया जाता है और पिछले हफ्ते वो ट्विटर पर बहुत बुरी हरकतें करते हुए पाए जाते हैं जिसके अंतर्गत वह "महिलाओं और युवा लड़कियों "को बेकारसंदेश भेजने का काम किया करते थे ,बेकार संदेश का कहने का मतलब यह है कि कुछ अश्लील तस्वीरें और उनके साथ गंदी गंदी बातें जो उन्हें परेशान कर देती थी |

(9)अदिति मित्तल :

                इसी क्रम में एक और बात निकल कर आती है जो कि  स्टैंड अप कॉमेडियन सुर्का की है और उन्होंने  अदिति मित्तल पर  जबरदस्ती चुंबन लेने का आरोप लगायाजब सुर्का ने इस  बात को सोशल मीडिया पर प्रकाशित किया तो इसके तुरंत बाद ही अदिति ने तुरंत माफी मांगी और कहा कि यह एक मजाक था , फिर  सुर्का ने बुधवार को ट्वीट किया और उन्होंने कहा कि जो मित्तल का "मी टू " का प्रयोग करके आंदोलन के चलते महिलाओं की आवाज का समर्थन कर रहे हैं ,मुंबई के अंधेरी में उन्होंने शो के दौरान और बिना उनकी मन्जूरी के उनके साथ जबरदस्ती कर रहे थे |

(10)गौरंग दोसी :

                इसी क्रम में आगे जो बात आती है बॉलीवुड अभिनेत्री फ्लोरा सैनी की और जिन्होंने हाल ही में जारी की गई हिस्ट्री में राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर के साथ एक फिल्म बनी थी ,उसमें उन्होंने भूत की भूमिका निभाया था और वो इस पर जो फिल्म निर्माता "दोसी " के हाथों उत्पीड़न का शिकार हुई हैतो इस बात को उन्होंने लोगों से साझा किया है और उन्होंने बताया है कि जितने लोग यौन उत्पीड़न के शिकार  से बचे हुए हैं उनको मैं सलाम करती हूँ , उन्होंने कहा कि उस समय एक ऐसी लड़की के लिए किसी के खिलाफ कहना मुश्किल थाजब कोई  बॉलीवुड की दुनिया में बिल्कुल नया-नया आया हो तोवह हमसे बहुत ही ज्यादा शक्तिशाली था और इसीलिए मुझे पीछे हटना पड़ा |

(11 )वरूण ग्रोवर :

             जैसा कि हम आपको बता दें इसके अंतर्गत महिलाओं की समस्याएं सामने रख सकते हैं और पुरूष भी अपने साथ हुए दुर्व्यवहार को भी बता सकते है , इसको देखते हुए पुरस्कार विजेता और लेखक वरुण ग्रोवर को जब 2001 में बनारस हिंदू विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र ने नाटक पर काम करने के लिए काफी बहस के साथ और गलत व्यवहार करने के लिए बुलाया था तो वरुण ने आज के ट्वीट के साथ सभी आरोपों का खंडन किया है |


   नोट :   यह तो  कुछ गिने-चुने लोग थे जो अब तक सामने आए हैं ,अभी पता नहीं कितने लोग सामने जाएंगेकिसी का कुछ नहीं कहा जा सकता,सभी के दिलों की धड़कन  बहुत तेज हो गयी है वो डर रहे हैं कि कब किस हँसती का नाम सामने जाए  |उसके साथ-साथ मेनका गाँधी ने भी इस बात का समर्थन करते हुए कहा है कि जो भी  इसके अंतर्गत आएगा उसे हरगिज़ नहीं छोड़ा जाएगा  | 
आपका सहृदय धन्यवाद !!!
 


No comments

Please do not enter any spam link in the comment box.