Home Top Ad

सोशल मीडिया का सार्थक प्रयोग - Meaningful Use Of Social Media

Share:

सोशल मीडिया ( Social Media ):

Meaningful Use Of Social Media
Social Media

आज जब हम इन्टरनेट की क्रांति के युग से गुजर रहे हैं तब भारत जैसे देश के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण है कि हम इन्टरनेट जैसे बहुमूल्य अविष्कार का सार्थक तथा समझदारी से इस्तेमाल करें। सोशल मीडिया का सृजन इन्टरनेट की दुनिया को रफ्तार प्रदान करता है।

सोशल मीडिया के अस्तित्व में आने से मानव जीवन में असीमित प्रगती आयी है। आज हम भले ही हजारों मील दूर हों अपने स्वजनों से परन्तु फेसबुक, ट्विटर, वाट्सएप, इंस्टाग्राम, आदि जैसे अत्याधुनिक सुविधाओं तथा स्मार्ट फोन की तत्परता से हमें यह अनुभूति कदापि भी नहीं होती की हम समीप न हो कर दूर हैं।

यद्यपि इन्हीं आधुनिकता नें हमे अनन्त रफ्तार तथा असीमित प्रगती दी है परन्तु जहाँ यह हमें सार्थक प्रयोग से मन्वाछित हर्ष प्रदान करता है वहीं सोशल मीडिया का अत्याधिक तेज़ी के साथ दुरूपयोग भी हो रहा है। हम सभी जानते हैं कि जिस प्रकार समाज में अच्छे लोग हैं उसी क्रम में समाज में बुरे लोग भी सम्मिलित हैं।

💥कैसे प्रयोग करें ?

अतः जहाँ अच्छे लोग सोशल मीडिया का प्रयोग समाज तथा संस्कृति को नजर में रख कर करते हैं वहीं बुरे लोग इसके द्वारा भ्रांतियाँ फैलाने, समाजिक सहिष्णुता को भड़काने तथा धार्मिक आस्था को चोट पहुंचाने में कर रहे हैं। भारतवर्ष के परिदृश्य में यदि देखा जाए तो भारत अत्याधिक संवेदनशील सभ्यता को धारण किये हुए है।

जहाँ हम अनेकता में एकता की बात करते हैं वहाँ हमें यह भी नहीं भूलना चाहिए कि विभिन्न क्षेत्रों, धर्मों, सभ्यताओं तथा संस्कृतिओं को मिला कर चलना हमारे लिए राष्ट्र धर्म है। परन्तु सोशल मीडिया के व्यापक विस्तार के इस युग में समाजिक सौहार्दता को बनाए रखना एक जटिल व विचारणीय समस्या है।

ऐसी परिस्थिति में उपद्रविय तंत्र सोशल मीडिया जैसे क्रांतिकारी परिवर्तन का गलत इस्तेमाल न करें इसपर हमें ध्यान देना चाहिए। ऐसे में एक जिम्मेदार नागरिक के रूप में हमारा कर्तव्य होना चाहिए कि हम ऐसे अफवाहों पर भरोसा न करते हुए उसे अन्य व्यक्तियों तक पहुंचने से रोकें तथा यदि ऐसे संदेश आप को प्राप्त हों जो भ्रांति प्रतीत होते हैं तो उनकी सत्यता की जांच करने का प्रयास करें |

जब तक की यह पुष्टि न हो जाए की प्राप्त संदेश सत्य है तथा वह वास्तविक प्रकरण तथा घटनाक्रम से सम्बंध रखता है तभी उसे आगे अग्रसर करें। "एक भारत श्रेष्ठ भारत" को चिरंजीवी रखना प्रतेक भारतीय का कर्तव्य है और हमें मिल कर इस नव युग का स्वागत व अभिनन्दन करना चाहिए तथा इस आधुनिक संसाधनों का समझदारी से इस्तेमाल करना चाहिए।

अपना बहुमूल्य समय देने के लिए आपका ,सहृदय धन्यवाद !!!

💬सहयोग: राष्ट्र गौरव

👀नोट:  प्रिय पाठकों, आपसे विनम्र निवेदन है यदि आपको इस लेख में कही भी , कोई भी त्रुटि नजर आती है या आप कुछ सुझाव देना चाहते है, तो कृपया नीचे दिए गए टिप्पणी स्थान ( Comment Box) में अपने विचार व्यक्त कर सकते है, हम अतिशीघ्र उस पर उचित कदम उठायेंगे |

No comments

Please do not enter any spam link in the comment box.